बुधवार, 22 सितंबर 2010

क्या आप जानती हैँ कि आपके लिए ज्यादा प्रोटीनयुक्त भोजन हानिकारक हो सकता हैँ ?

संतुलित भोजन का एक अहम घटक माना जाने वाला प्रोटीन (protein) , ज्यादा मात्रा मेँ सेवन करने पर महिलाओँ के लिए मुसीबत बन सकता हैँ। Specialists का मानना हैँ कि महिलाओँ मेँ protein की ज्यादा मात्रा calcium की कमी का कारण बन सकती है।


दूसरी ओर specialist इस बात पर जोर देते हैँ कि Iron और calcium महिलाओँ के लिए सबसे ज्यादा जरूरी हैं क्योँकि इनसे उनके शरीर की मूलभूत आवश्यकतायेँ पूरी होती हैँ। स्त्री रोग specialist डाँ. मालती जोशी कहती हैँ , " हर उम्र की महिलाओँ के लिए अलग-अलग पोषक तत्व जरूरी होते हैँ। हालांकि Iron और calcium हर उम्र की महिलाओँ के लिए आवश्यक हैँ।" उन्होँने बताया कि आम धारणा के विपरीत महिलाओँ को ऐसा भोजन ज्यादा नहीँ लेना चाहिए , जिसमेँ बहुत मात्रा मेँ protein हो। High protein diet महिलाओँ मेँ calcium को नष्ट करती है , जो बाद मेँ Osteoporosis (हड्डियोँ का कमजोर होना ) का कारण बन सकती है।

हालांकि गर्भवती महिलाओँ को ज्यादा से ज्यादा प्रोटीनयुक्त भोजन लेना चाहिए क्योँकि यह उनके बच्चे के विकास के लिए बहुत आवश्यक है। एक सर्वेक्षण के अनुसार विकासशील देशोँ मेँ हर चौथी महिला एनीमिया ( खून की कमी ) की शिकार है। इस बीमारी को दूर करने के लिए specialists आमतौर पर पालक जैसी हरी सब्जियोँ , ब्रोकोली और टमाटर खाने की सलाह देते हैँ।

Specialists के अनुसार महिलाओँ मेँ आम तौर पर मासिक धर्म के बाद एनीमिया की शिकायत बढ़ जाती हैँ। महिलाओँ को इस दौरान अपने भोजन मेँ ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियोँ और दालोँ को शामिल करना चाहिए। ऐसी महिलाओँ को अपने भोजन मेँ टमाटर का जूस , संतरे का जूस और काली मिर्च को शामिल करना चाहिए ।



-: MY OTHER BLOGS :-


> SANSAR(Ghazals)

> प्रेरक-विचार

> बचत और निवेश

मंगलवार, 7 सितंबर 2010

क्या आप जानते हैँ कि बेटी पैदा करने की ख्वाहिश कैसे पूरी हो सकती हैँ?

अगर आप संतान के रुप मेँ बेटी चाहती हैँ तो एक  study के अनुसार आप केले खाना बन्द करने
 के साथ- साथ नमक का सेवन भी कम करेँ और नियमित रुप से यौन सम्बन्ध बनाएं।

 Scientists ने एक study मेँ पाया कि सही खान-पान तथा यौन सम्बन्ध का समय बच्चे के लड़का
 या लड़की होने (Sex-determination) के लिहाज से काफी अहमियत रखता है।


 बेटी की चाहत रखने वाली महिलाओँ को calcium  तथा magnesium युक्त चीजेँ खानी चाहिये।
जैसेकि :- दही, सख्त पनीर, डिब्बाबंद सल्मोन,रुबार्ब, पालक, टोफू, बादाम, दलिया, फूल गोभी,
संतरे, काजू, गेहूँ की बाली, अंजीर तथा सेम आदि।

बेटी कि चाहत रखने वाली महिलाओँ को sodium तथा potasium की अधिकता वाले food products
के सेवन से बचना चाहिये। जैसेकि :- जैतून, सुअर का माँस, आग पर भूनी गई सल्मोन मछली, खुश्बूदार चावल, आलू तथा पेस्ट्री आदि।

इसके अलावा scientists ने सुझाव दिया ह कि बेटी की ख्वाहिश रखने वाली महिलाओँ को नियमित
रुप से यौन सम्बन्ध बनाने चाहिए हालांकि यह काम डिम्बोत्सर्ग(Ovulation) से ठीक पहले या तुरन्त
बाद नहीँ करना चाहिए।

 बहरहाल, scientists ने दावा किया हैँ कि पिता के खान-पान का बच्चे के लिँग निर्धारण पर कोई
असर नहीँ पड़ता हैँ।



-: MY OTHER BLOGS :-


> SANSAR(Ghazals)

> प्रेरक-विचार

> बचत और निवेश

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
 
Powered by Blogger