मंगलवार, 2 अगस्त 2011

क्या आप जानते है कि बच्चोँ के दाँत मोती जैसे कैसे निकलेँगे ?



क्या आप जानती हैँ कि गर्भावस्था के दौरान आपकी डाईट भी बच्चे के दाँत को प्रभावित करती है ?
मोती जैसे चमकते दाँत जहाँ आपके मुखड़े की खूबसूरती मेँ चार चाँद लगाते हैँ , वहीँ उसे तंदरूस्त भी रखते हैँ ।
दाँत सिर्फ भोजन को चबाकर आसानी से पचाने लायक ही नहीँ बनाते हैँ बल्कि शब्दोँ से सही उच्चारण और चेहरे की खूबसूरती के लिए भी जिम्मेदार होते हैँ ।

बच्चे का दाँत कैसा होगा ,
इसके लिए सिर्फ उसका
आहार ही जिम्मेदार नहीँ
है , बल्कि आप भी जिम्मेदार हैँ । अगर अपनी गर्भावस्था के दौरान कैल्शियम युक्त खाना खाया है तो आपके बच्चे के दाँत भी खूबसूरत और हेल्दी निकलेँगे । गर्भावस्था मेँ माँ का आहार आने वाले बच्चे के दाँतोँ पर असर डालता है ।


दाँत बनने की प्रक्रिया गर्भावस्था के छठे सप्ताह से ही शुरू हो जाती है । चौथे महिने से दाँतोँ के सख्त भाग बनने लगते हैँ , स्थायी दाँत भी दूध के दाँतोँ के नीचे गर्भावस्था से ही बनने लगते हैँ ।


डाँ. रश्मि स्वरूप जौहरी
कहती है यही वजह है कि
कि गर्भावस्था के दौरान
होने वाली माँ को कैल्शियम
फ्लोराइड , विटामिन सी और डी युक्त पौष्टिक व
संतुलित भोजन लेने की
सलाह दी जाती है । भोजन
मेँ इन पौष्टिक पदार्थोँ की
कमी बच्चे के दाँतोँ की
प्राथमिक बनावट को
बिगाड़ देती है । इस कमी
को बच्चे के जन्म के बाद
उन्हेँ पौष्टिक पदार्थ देकर
भी दूर नहीँ किया जा
सकता है , साथ ही माँ के
खाने मेँ पौष्टिक पदार्थोँ की
कमी शिशू के दाँतोँ मेँ कीड़ा
लगने की आशंका को भी
बढ़ा देती है ।

गर्भावस्था के दौरान माँ को
जर्मन मीजल्स निकलने ,
तेज बुखार होने या टेट्रासाईक्लिन ग्रुप की
दवाएँ लेने से शिशू के दाँतोँ मेँ विकृति और पीलापन आ
जाता है । लिहाजा जहाँ तक
संभव हो इन स्थितियोँ से
बचेँ । इन दवाइयोँ के सेवन
से बच्चे के प्रारम्भिक दूध के दाँत ही नहीँ , बल्कि
स्थायी दाँत भी कमजोर ,
पीले पड़ जाते हैँ ।

दूध के दाँत निकलते समय
बच्चे को तकलीफ न हो
तथा वह रोगोँ का शिकार
न हो , इसके लिए भी उसके
पौषण और स्वच्छता पर
ध्यान देने की जरूरत है ।


-: MY OTHER BLOGS :-


> SANSAR(Ghazals)

> प्रेरक-विचार

> बचत और निवेश

1 comments:

DR. ANWER JAMAL ने कहा…

आपने बच्चे के दांतों के बारे में अच्छी जानकारी दी है और हम आपको ख़ुशख़बरी दे रहे हैं कि आप चाचा बन गए हैं। बच्चे को आकर आशीर्वाद दीजिए और साथ ही आपके लि और भी ढेर सारी ख़बरें :
हमारा यह प्रयास कैसा लगा ?
आप भी बताइयेगा।
देखिए अलग-अलग लेखकों के कुछ लिंक्स :
1- अच्छी टिप्पणियाँ ही ला सकती हैं प्यार की बहार Hindi Blogging Guide (22)
http://hbfint.blogspot.com/2011/08/hindi-blogging-guide-22.html

2- औरत हया है और हया ही सिखाती है , ‘स्लट वॉक‘ के संदर्भ में
http://hbfint.blogspot.com/2011/08/blog-post_5673.html

3- हाइकु गीत ----- दिलबाग विर्क
http://hbfint.blogspot.com/2011/08/blog-post_97.html


4- मुस्कुरा दिया करना
http://hbfint.blogspot.com/2011/08/blog-post_1517.html

5- ये हैं क्रिकेट के बद्तमीज़
http://hbfint.blogspot.com/2011/08/blog-post_1989.html

6- राष्ट्र गान--किसकी जय गाथा
http://hbfint.blogspot.com/2011/08/blog-post_02.html

7- ख़ुशख़बरी और मुबारकबाद Good news
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/08/good-news.html

--
*हिंदी ब्लॉगिंग * को बढ़ावा देने के मक़सद से ही आपको यह लिंक प्रेषित किए जाते हैं जिन्हें आप अपने मित्रों को फ़ॉरवर्ड कर दिया
करें ताकि नए लोग हिंदी ब्लॉगिंग से जु़ड़ें। अगर आपको इन लिंक्स के आने से
परेशानी होती है तो कृप्या सूचित करें ताकि आपका नाम सूची से हटाया जा सके।
हमारा मक़सद आपको परेशान करना नहीं है। अगर आप भी अपना ब्लॉग संचालित करते हैं
या आप सामान्य नेट यूज़र हैं और हिंदी ब्लॉगर्स से कोई विचार साझा करना चाहते
हैं तो आप भी अपनी पोस्ट का लिंक या कंटेंट भेज सकते हैं। उसे ज़्यादा से
ज़्यादा हिंदी ब्लॉगर्स तक पहुंचा दिया जाएगा। शर्त यह है कि यह कंटेंट
देशप्रेम की भावना को बढ़ाने वाला और समाज के व्यापक हित में होना चाहिए। हिंदी
ब्लॉगिंग को सार्थक दिशा देना ही ‘ब्लॉग की ख़बरें‘ का मक़सद है।

धन्यवाद !
http://hbfint.blogspot.com

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
 
Powered by Blogger